एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

अमेरिकी चुनावों में फिल्म मेकर मीरा नायर के बेटे ने इतिहास रच दिया। जोहरान ममदानी यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले साउथ एशियन हैं, जिन्होंने न्यूयॉर्क स्टेट असेम्बली में सीट जीती है। जोहरान को न्यूयॉर्क के 36वें असेम्बली जिले एस्टोरिया (क्वींस का पड़ोसी) का प्रतिनिधित्व करने के लिए निर्विरोध चुना गया।

ममदानी ने किया जीत का ट्वीट
अपनी जीत के बारे में ममदानी ने ट्वीट किया। वे लिखते हैं- ये आधिकारिक रूप से घोषित हो चुका है हम जीत गए। मैं अमीरों पर कर लगाने, बीमारों को चंगा करने, गरीबों का घर बसाने और समाजवादी न्यूयॉर्क का निर्माण करने के लिए अल्बानी जा रहा हूं। लेकिन मैं इसे अकेले नहीं कर सकता। समाजवाद को जीतने के लिए, हमें बहुराष्ट्रीय श्रमिक वर्ग के एक बड़े आंदोलन की आवश्यकता होगी। तो चलो एक निर्माण करते हैं।

ज़ोहरान का जन्म युगांडा के कम्पाला में हुआ था और वह सात साल के थे उनका परिवार न्यूयॉर्क चला गया, जहां वे पले-बढ़े।

सोशल वर्कर भी हैं ममदानी
28 साल के ममदानी एक रैपर और हाउसिंग काउंसलर हैं। उन्होंने रैप वीडियो नानी बनाया है। इसमें मधुर जाफरी ने एक्टिंग की है। हाउसिंग काउंसलर के तौर पर वे घर से निकाले गए लोगों की मदद करते हैं। उन्हें लेफ्ट विंग डेमोक्रेटिक पार्टी और डेमोक्रेटिक सोशलिस्ट अलायंस का समर्थन हासिल है। वे लोगों को किफायती घर दिलाने के लिए ‘रोटी एंड रोजेज’ नाम का कैंपेन भी चलाते हैं। इसके तहत मकान मालिकों और बड़े कॉर्पोरेशन से सताए गए लोगों की मदद की जाती है।

जब वे पिछले साल अपना अभियान शुरू रहे थे तो कई लोगों ने ममदानी को सलाह दी थी कि वे अपनी देसी जड़ों को उजागर करें। लेकिन उन्होंने कुछ अलग किया और लोकप्रिय लोकतांत्रिक समाजवादी नारा ब्रेड और गुलाब में एक ट्विस्ट किया इसे ‘रोटी और गुलाब’ बना कर प्रचार किया।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here