• Hindi News
  • International
  • 20 Players Of The Team, Including Olympic Gold Medalist, Became Delivery Boys When The Games Stopped Earning

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लोज|पोलैंडएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

वेनेजुएला के तलवारबाज रूबेन लिमार्डो।

कोविड-19 महामारी ने दुनिया के हर व्यक्ति के जीवन को प्रभावित किया है। इनमें इंजीनियर, आईटी प्रोफेशनल, सरकारी और निजी कर्मचारी तो हैं ही, ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले खिलाड़ी भी शामिल हैं। हालात इतने खराब हैं कि पोलैंड में वेनेजुएला तलवारबाजी टीम के 20 सदस्य डिलीवरी ब्वॉय बन गए हैं। यही हाल नीदरलैंड के एक क्रिकेटर का भी है।

35 साल के रूबेन लिमार्डो वेनेजुअला की नेशनल फेंसिंग (तलवारबाजी) टीम के सदस्य हैं। लेकिन फिलहाल पोलैंड में अपने गृहनगर लोज में साइकिल से फूड डिलीवरी कर रहे हैं। वे अकेले नहीं हैं, बल्कि उनकी टीम के 20 खिलाड़ी भी यही काम कर रहे हैं। हाल ही में उन्होंने अपने इस नए जॉब के बारे में सबको बताया। उन्होंने कहा-’अब हम सभी डिलीवरी राइडर हैं।

आप अपने ढंग से कमा सकते हैं और ये काम भी दूसरे कामों जैसा ही है।’ 8 साल पहले उन्होंने लंदन ओलंपिक में अपने देश के लिए गोल्ड मेडल जीता था। तब वह वेनेजुअला के लिए बीते 44 सालों में ओलंपिक मेडल जीतने वाले दूसरे खिलाड़ी थे। लेकिन कोविड महामारी ने सब बदल दिया।

रूबेन बताते हैं ‘हमें वेनेजुअला से काफी कम पैसे मिले, क्योंकि वहां हालात खराब हैं। और महामारी ने सबकुछ बदल दिया। अब कोई प्रतिस्पर्धा नहीं है। टोक्यो ओलंपिक भी एक साल के लिए टल गया और प्रायोजकों का कहना है कि वे अगले साल खेल शुरू करेंगे। ऐसे में हमें इस तरह अपनी आजीविका चला रहे हैं।’ रूबेन के मुताबिक, काम से फ्री होने के बाद वे और बाकी खिलाड़ी प्रैक्टिस भी कर रहे हैं।

क्रिकेट खेलना था, खाना पहुंचा रहा हूं : पॉल वैन मिकेन

यही हाल नीदरलैंड के क्रिकेटर पॉल वैन मिकेन का है, जो कोविड के चलते क्रिकेट ठप होने के बाद आजीविका के लिए अब फूड डिलीवरी ब्वॉय बन गए हैं। 27 साल के पॉल बॉलर हैं और उन्होंने आखिरी मैच जून 2019 में जिम्बाव्वे के खिलाफ खेला था। उन्होंने सोशल मीडिया पर अपने हालात पर दुख जताते हुए लिखा है- ‘इस वक्त क्रिकेट खेला जाना था, लेकिन मैं इन सर्दियों में लोगों के घर खाने के पैकेट पहुंचा रहा हूं।

चीजें जब ऐसे बदलती हैं तो मजाक लगता है। हा हा हा… हंसते रहो साथियो।’ पॉल ने लॉकडाउन में ही यह काम शुरू किया है। हालांकि टी-20 वर्ल्ड कप स्थगित किए जाने से वे काफी निराश हैं, लेकिन उन्हें अभी भी उम्मीद है कि हालात बदलेंगे तो वे खेल में वापसी कर सकेंगे।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here