• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Madhya Pradesh By election 14 6 Out Of 28 Seats To BJP, Congress 10 13 Seats

भोपाल6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • अभी भाजपा के पास 107 विधायक हैं और उसे सरकार बचाने के लिए 8 सीटों की जरूरत है
  • एक्जिट पोल बता रहा है- शिवराज को सरकार चलाने के लिए बाहरी समर्थन की जरूरत नहीं होगी

मप्र उपचुनाव के लिए मंगलवार शाम 6 बजे वोटिंग खत्म हो गई। चुनाव के संभावित नतीजे क्या होंगे, इसके लिए दैनिक भास्कर ने एग्जिट पोल किया। एग्जिट पोल के मुताबिक भाजपा को 14 से 16 सीटें मिलती दिख रही हैं। कांग्रेस को 10 से 13 सीटें मिलेंगी। बसपा को एक सीट मिल सकती है। अभी भाजपा के पास 107 विधायक हैं और उसे सरकार बचाने के लिए 8 सीटों की जरूरत है।

चंबल क्षेत्र में भाजपा पिछड़ती नजर आ रही है। यहां कुल 7 सीटों में कांग्रेस को 4 से 6 जबकि भाजपा को शून्य से दो सीटें ही मिलने की संभावना है। ग्वालियर क्षेत्र सिंधिया का गढ़ है जहां पूरे प्रदेश की नजर है। यहां बराबर का मुकाबला दिखा। यहां की 9 सीटों में भाजपा-कांग्रेस को 4 से 5 सीटें मिलती नजर आ रही हैं। मालवा में भाजपा आगे दिख रही है। मप्र का उपचुनाव इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि इससे प्रदेश की सत्ता के समीकरण तय होना है। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रतिष्ठा भी दांव पर है।

एक्जिट पोल का संकेत – सरकार बचा लेगी भाजपा

एग्जिट पोल के संकेतों से साफ है कि भाजपा सरकार बचाने में कामयाब हो जाएगी। कांग्रेस फिर से सरकार बना लेगी, इसकी संभावना कहीं दिख नहीं रही। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि उपचुनाव में अमूमन मतदाताओं का रुझान सत्तारुढ़ पार्टी की तरफ ही ज्यादा होता है।

क्षेत्रवार जानिए किसे कितनी सीटें मिल रहीं

क्षेत्र सीट भाजपा कांग्रेस अन्य
ग्वालियर 9 4-5 4-5 0
चंबल 7 0-2 4-6 1
मालवा 5 4-5 0-1 0
निमाड़ 2 0-1 1-2 0
बुंदेलखंड 2 1-2 0-1 0
भोपाल 2 1-2 0-1 0
महाकौशल 1 1 0 0

ऐसे किया एग्जिट पोल

दैनिक भास्कर ने अपने रिपोर्टर्स की मदद से मध्यप्रदेश की 28 सीटों का जायजा लिया। वोटिंग ट्रेंड का एनालिसिस किया। वोट देकर निकले मतदाताओं से बात करके निष्कर्ष निकाले।

28 सीटों पर जितनी बंपर वोटिंग हुई, उतनी बंपर भाजपा की जीत होगी – सीएम

कोरोना के बावजूद 28 सीटों पर जितनी बंपर वोटिंग हुई है, उतनी ही बंपर जीत भाजपा की होगी। कांग्रेस बौखला गई है और ईवीएम पर उंगली उठा रही है। जब 2018 में कांग्रेस को जीत मिली थी, जब ईवीएम सही थी और अब गलत हो गई। लोकतंत्र की विजय से गदगद हूं। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश हमारा संकल्प है।

-शिवराजसिंह चौहान, मुख्यमंत्री मप्र

सरकार जनता की बनेगी, सीट की संख्या नहीं बताऊंगा – कमलनाथ

कितनी सीटें हम जीतेंगे, मैं संख्या पर नहीं जाऊंगा। यह चुनाव जनता का था, और जनता ने ही लड़ा है। 10 नवंबर को जनता की सरकार बनना तय है।

– कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री मप्र



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here