जबलपुर15 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रेलवे ने जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज रूट का मैप जारी किया

  • कमिश्रर रेल सेफ्टी से मिली ट्रेन संचालन की हरी झंडी
  • 80 से 100 किमी की रफ्तार से इस रूट पर दौड़ेंगी ट्रेनें

रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी है। उत्तर से दक्षिण भारत जाने वाली ट्रेनों की न केवल अब दूरी कम हो जाएगी, बल्कि पांच से छह घंटे समय भी बचेगा। रेलवे ने जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज का कार्य पूरा होने के बाद ट्रैक रूट जारी कर दिया है। इस रूट से ट्रेनों के संचालन के लिए कमिश्रर रेल सेफ्टी से भी हरी झंडी मिल चुकी है। 31 अक्टूबर को ही उन्होंने निरीक्षण किया था।

जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज लाइन

जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज लाइन

जबलपुर से दक्षिण भारत जाने वाली ट्रेनें अभी जबलपुर, इटारसी, नागपुर होते हुए जाती थीं। अब जबलपुर से नैनपुर, बालाघाट होकर ये ट्रेनें निकलेंगी। इस रेल ट्रैक के पूरा होने के बाद उत्तर भारत से जबलपुर होते हुए बालाघाट से दक्षिण भारत जाने वाली ट्रेनों की दूरी तकरीबन 274 किमी कम होगी। रेलवे ने इस नए रूट का मैप भी जारी कर दिया है। इस मैप में जबलपुर से दक्षिण भारत जाने वाली ट्रेनों को अब जबलपुर से सीधे नैनपुर, गोंदिया, बल्लाहशाह से दक्षिण भारत जाना होगा।
100 की स्पीड से दौड़ेगी ट्रेनें
इस ब्रॉडगेज लाइन पर मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें 80 से 100 किमी की स्पीड से चलेंगी। चार साल पहले तक इस नैरोगेज लाइन पर 5 गाडिय़ां सतपुड़ा एक्सप्रेस, जबलपुर-नैनपुर पैसेंजर, जबलपुर बालाघाट पैसेंजर, जबलपुर-नैनपुर फास्ट पैसेंजर, जबलपुर-नागपुर पैसेंजर गाडिय़ां अप और डाउन चलती थीं। अब इन ट्रेनों को मेमू के रूप में चलाया जाएगा।
यह ट्रेनें होगी शुरू

  1. जबलपुर-नैनपुर-बालाघाट-गोंदिया
  2. जबलपुर-नैनपुर-मंडला फोर्ट
  3. अमरावती एक्सप्रेस
  4. जबलपुर-बेंगलुरु जाने वाली संघमित्रा एक्सप्रेस
  5. त्रिवेंद्रपुरम स्पेशल
  6. दक्षिण भारत जाने वाली उत्तर की एक दर्जन ट्रेनें



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here