• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Rahatgarh Waterfalls Drowning Accident Update | Two Drowned And 2 Missing As Drowning Accident Today In Sagar Rahatgarh Waterfalls

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सागर17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हादसे में सुरक्षित रहे बच्चों से जानकारी लेते पुलिस अधिकारी।

  • सागर के इतवारी टोरी का रहने वाला परिवार, राहतगढ़ वॉटर फाॅल में पिकनिक मनाने गए थे
  • बुधवार को किया जाएगा शवों का पोस्टमार्टम

जिला मुख्यालय से करीब 40 किलोमीटर दूर राहतगढ़ वॉटर फाॅल पर मंगलवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां एक ही परिवार के चार लोगों की पानी में डूबने से मौत हो गई। ये लोग यहां पिकनिक मनाने आए थे। परिवार सागर के इतवारी टोरी निवासी है। मरने वालों में तीन लड़कियां, एक पुरुष है। एक बालक की तलाश जारी है।

मंगलवार शाम को अंधेरा घिरते ही बालक की तलाश रोक दी गई है। बताया जाता है कि जिस पानी में बच्चे डूबे थे उसमें खेत की सिंचाई के लिए दो मोटर भी लगी थीं। हालांकि पुलिस ने करंट फैलने जैसी बात से इनकार किया है। बुधवार को शवों का पोस्टमार्टम किया जाएगा।

हादसे में नाजिर (35), रूबी पिता नाजिर, रोजी पिता राजखान और हिना पिता राजखान की मौत हो गई। नसीम पिता नाजिर की तलाश जारी है। वहीं, नाजिया पिता नाजिर को बचा लिया गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार इस दौरान आयशा पति नाजिर, अमजद और एक अन्य बालक पानी के बाहर ही थे। इतवारी टोरी का यह परिवार नजीर ऑटो वाले परिवार के नाम से जाना जाता है। एडिशनल एसपी बीना विक्रम सिंह ने बताया कि मृतक संख्या 4 है।

परिजन का शव गोद में लेकर बैठी महिला।

परिजन का शव गोद में लेकर बैठी महिला।

मौके पर पुलिस बल के साथ ही बड़ी संख्या में ग्रामीण भी मौजूद हैं। पुलिस अधिकारी बचाव कार्य में जुटे हैं। बालिका नाजिया फिलहाल कुछ बोलने की स्थिति में नहीं है। पुलिस के अनुसार पूरा परिवार ऑटो रिक्शा से यहां पहुंचा था। बताया जाता है कि पूरा परिवार प्रतिबंधित क्षेत्र तक पहुंच गया और यहां खाना बना रहे थे। संभवत: परिवार काे पता नहीं था कि यह प्रतिबंधित क्षेत्र है। नहाने के दौरान यह हादसा हो गया।

हादसे में बची नाजिया को अस्पताल में भर्ती किया गया है।

हादसे में बची नाजिया को अस्पताल में भर्ती किया गया है।

आंखों देखी : सबसे पहले रोजी व हिना डूबने लगीं, उन्हें बचाने के लिए ही चाचू नजीर कूदे थे

हम लाेग चाचू के साथ उन्हीं के ऑटाे से राहतगढ़ वाटरफाल पर पिकनिक मनाने गए थे। लगभग डेढ़ बजा था। हम लाेग कुंड के पास बैठे थे। तभी राेजी व हिना कुंड में नहाने उतरीं। कुछ देर बाद नाजिया व रुबी भी नहाने लगीं। चाराें अचानक गहरे पानी में चली गईं और डूबने लगीं।

मैं चिल्लाया। भाई नसीम और चाचू दाेनाें उनकाे बचाने के लिए उतरे। जब चाचू डूबने लगे ताे हम लाेगाें ने चिल्लाकर लाेगाें काे मदद के लिए बुलाया। मछुआरे आए और चाचू काे बाहर निकाल लिया। जब उन्हें पता चला कि नसीम भी डूब गया है ताे वे फिर से कुंड में कूद गए। इसके बाद वे काफी देर तक नहीं निकले। एक-एक कर उनके शव निकाले गए। नसीम काे तलाशा गया।

-सलमान, (उम्र 11 साल), मृतक नजीर का भतीजा



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here