• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • The Jabalpur based Police Arrested One From Madan Mahal’s Hill And The Other With ISBT While Waiting For A Bus.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जबलपुर2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गढा थाने में आरोपी सगे भाईयों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम

  • भतीजे से हो रहे विवाद में बीच-बचाव करने पर ऑटो चालक को मार दी थी गोली
  • 12 हजार रुपए में शहपुरा से खरीदी थी पिस्टल, उसे भी तलाश रही गढ़ा पुलिस

जबलपुर की गढ़ा पुलिस ने ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या करने वाले दोनों भाईयों को 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया। हत्या के बाद मुख्य आरोपी मदनमहल की पहाड़ी की ओर भाग गया था। उसे छह घंटे के अंदर ही दबोच लिया। वहीं दूसरे को बस के इंतजार में दीनदयाल स्थित आईएसबीटी से सोमवार दोपहर को गिरफ्तार किया। मुख्य आरोपी ने कुछ समय पहले ही शहपुरा से 12 हजार रुपए में वारदात में प्रयुक्त अवैध पिस्टल खरीदी थी। गढ़ा पुलिस पिस्टल बेचने वाले को भी तलाश रही है।

डेढ़ वर्ष पहले हुए विवाद की रंजिश में हुई हत्या
गढ़ा सीएसपी ट्रेनी आईपीएस रोहित काशवानी ने बताया कि मेडिकल आईसीएमआर के पीछे गुप्ता कॉलोनी निवासी राजकुमार कोरी (48) की रविवार रात साढ़े 10 बजे के लगभग गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वहीं उसके भतीजे भवानी कोरी के सिर पर लाठी से वार कर मरणासन्न कर दिया गया है। इस मामले में मोहल्ले के फुंदू उर्फ संतोष कोरी और उसका भाई दीपक उर्फ छोटू कोरी नामजद आरोपी हैं। आरोपी सगे भाईयों का डेढ़ वर्ष पहले भवानी से विवाद हुआ था। रविवार को भी दोनों के बीच इसी रंजिश को लेकर मामूली कहासुनी फिर विवाद गहराया था।

आरोपी को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम

आरोपी को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम

भतीजे को बचाने पहुंचा था राजकुमार
ट्रेनी आईपीएस काशवानी के मुताबिक भवानी और आरोपी के घरों की दूरी महज 80 मीटर है। रात में नौ बजे के लगभग घरों के बीच स्थित दुर्गा मंदिर के पास भवानी और संतोष में कहासुनी शुरू हुई थी। दोनों आरोपी भवानी के साथ मारपीट कर रहे थे। शोर सुनकर चाचा राजकुमार कोरी बीच-बचाव को पहुंचा था। तभी दीपक उर्फ छोटू ने उसके कंधे पर गोली मार दी थी। मेडिकल में राजकुमार ने दम तोड़ दिया था।
हत्या के बाद भाग गया था पहाड़ी पर
दीपक उर्फ छोटू कोरी की भेड़ाघाट रोड पर नाई की दुकान है। हत्या के बाद वह मदनमहल पहाड़ी की ओर भाग गया था। उसे छह घंटे बाद सोमवार तड़के चार बजे गढ़ा पुलिस ने दबोच लिया। उसकी निशानदेही पर पहाड़ी से वारदात में प्रयुक्त पिस्टल जब्त किया गया। वहीं संतोष उर्फ फुंदू कोरी ड्राइवर है। हत्या के बाद वह गोलसपुर स्थित पैतृक गांव भाग गया था। गढ़ा पुलिस ने स्थानीय गोसलपुर पुलिस को दबिश के लिए भेजा, तो वह वहां से भी फरार हो गया। दोपहर में उसे शहर में दीनदयाल स्थित आईएसबीटी (अंतर राज्यीय बस टर्मिनस) से गिरफ्तार किया। वह बस के इंतजार में वहां खड़ा था। दोनों को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here