मुंबई। लॉकडाउन के शुरू होने से अब तक कई स्टार्स ऐसे हैं जो अपने परिवारों से मिल नहीं पाए हैं। कुछ मिले भी हैं तो उन्हें उनके साथ ज्यादा समय बिताने का मौका नहीं मिला है। अब ऐसे स्टार्स दीवाली के मौके का फायदा अपने परिजनों से मिलने और त्योहार सेलिब्रेट करने मेें करना चाहते हैं। इनमें सिंगर गुरु रंधावा ( Guru Randhawa ) और एक्ट्रेस मानुषी छिल्लर ( Manushi Chhillar ) शामिल हैं।

यह भी पढ़ें : तनुश्री दत्ता बॉलीवुड में वापसी की कर रहीं तैयारी, घटाया 15 किलो वजन, फिल्मों की लगी लाइन

‘प्रियजनों से जुड़ने का सुनहरा अवसर’

सिंगर गुरु रंधावा दिवाली त्योहार को मनाने के लिए अपने परिवार के साथ दिल्ली में हैं। उनका कहना है कि यह त्याहोर लॉकडाउन के बाद अपने प्रियजनों से जुड़ने का अच्छा मौका है। सिंगर का कहना कि यह त्योहार परिवार के बिना अधूरा हो जाता है। गुरू रंधावा ने से कहा, यह अपने प्रियजनों से जुड़ने का सुनहरा अवसर है। खासतौर से लॉकडाउन के बाद। दिवाली परिवार बिना अधूरी है। इन दिनों हम परिवार संग एकत्रित होकर अच्छा खाना और मिठाईयां खाते हैं। गुरदासपुर के रहने वाले पंजाबी गायक ने भी वार्षिक उत्सव को शेयर किया।

उन्होंने कहा,’मैं इस त्योहार का आनंद लेता हूं। दिवाली हमारे जीवन में पॉजिविटी लाता है। मुझे याद है, जब मैं छोटा था तो गुरुदासपुर में हमारा परिवार और दोस्त दीया और लैंप जलाते थे। शाम को दोस्तों संग बाहर जाने का बेसब्री से इंतजार होता था। यह मेरी सबसे बड़ी यादों में से एक है।’

‘महामारी के दौरान दिल्ली में काम कर रही थीं’

पूर्व ब्यूटी क्वीन और बॉलीवुड की नवोदित अभिनेत्री मानुषी छिल्लर इस बार घर में दिवाली मनाए जाने को लेकर बेहद रोमांचित हैं, क्योंकि उन्हें अब आखिरकार अपनी मां डॉक्टर नीलम छिल्लर से मिलने का मौका मिल रहा है, जो कोविड-19 महामारी के दौरान दिल्ली में काम कर रही थीं। त्यौहार को साथ में मनाने के चलते मानुषी की मां दिल्ली से मुंबई आई हुई हैं।

यह भी पढ़ें : छोटा रहा बॉलीवुड कॅरियर, सलमान पर लगाए ईर्ष्या करने के आरोप, जीता है लग्जरी लाइफ

दिवाली का मतलब उस निस्वार्थ प्यार के प्रति आभार

मानुषी कहती हैं, ‘इस साल की दिवाली निश्चित तौर पर मेरे और मेरे परिवार के लिए सुपर स्पेशल है। दिवाली को अपने प्रियजनों के साथ मिलकर ही मनाया जाना चाहिए। मेरा परिवार मेरे लिए काफी मायने रखता है। मेरे लिए दिवाली का मतलब उस निस्वार्थ प्यार के प्रति आभार जताना है, जिसे मेरे परिवार ने मुझ पर बरसाया है, तो इसलिए यह दिवाली और भी ज्यादा खास है क्योंकि आखिरकार मुझे आठ महीने बाद अपनी मां से मिलने का मौका मिल रहा है।’





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here